close this ads

Khan Market Metro Station Delhi

About | Services & Route | Mandir Darshan
Khan Market (खान मार्केट) Metro StationKhan Market (खान मार्केट) opened Commonwealth Games opening ceremony day. Metro station hepls to visite Gate 1-4: Khan Market, Shahjahan Road, RSJM School, Taj Mansingh Hotal, Gate 2-3: Pandara Road, Golf Links, The Ambassador Hotal, Lodhi Road Garden, Sujan Singh Park, India hebitat Center.

Services & Route Informations

Disabled Enable
yes

Violet Line - बैंगनी लेन [Since: 3 October 2010]

Central Secretariat | Underground | Island Platform | Jawaharlal Nehru Stadium

Near By Temples

Shri Gopal Mandir A devine place of Lord Shri Radha Krishan in the heart of khan market named as श्री गोपाल मंदिर (Shri Gopal Mandir)  near Lok Nayak Bhawan. Temple is 100 meter far from Khan Market metro station.
A devine place of Lord Shri Radha Krishan in the heart of khan market named as श्री गोपाल मंदिर (Shri Gopal Mandir) near Lok Nayak Bhawan. Temple is 100 meter far from Khan Market metro station.
@ Khan Market, New Delhi - 110003
Bhagwan Valmiki Mandir Second oldest Maharishi Valmiki temple of Delhi, named as भगवान वाल्मीकि मंदिर (Bhagwan Valmiki Mandir) organized by valmiki samaj near Lok Nayak Bhawan and Shri Gopal Mandir. Valmiki temple is easily accessible from Khan Market metro station.
Second oldest Maharishi Valmiki temple of Delhi, named as भगवान वाल्मीकि मंदिर (Bhagwan Valmiki Mandir) organized by valmiki samaj near Lok Nayak Bhawan and Shri Gopal Mandir. Valmiki temple is easily accessible from Khan Market metro station.
@ Khan Market, New Delhi - 110003
Shri Krishna Pranami MandirShri Krishna Pranami Mandir
A center of Nijanand Sampraday श्री कृष्ण प्रणामी मंदिर (Shri Krishna Pranami Mandir), Rohini Delhi. A golden history of 3060 kanya vivah, 30k free polio upchar and organized 33 Gaushala.
पत्तल में खाने के महत्व
» पलाश के पत्तल में भोजन करने से स्वर्ण के बर्तन में भोजन करने का पुण्य व आरोग्य मिलता है।
» केले के पत्तल में भोजन करने से चांदी के बर्तन में भोजन करने का पुण्य व आरोग्य मिलता है।
मटके के पानी के फायदे!
» इस पानी को पीने से थकान दूर होती है।
» इसे पीने से पेट में भारीपन की समस्या भी नहीं होती।
» मटके की मिट्टी कीटाणुनाशक होती है जो पानी में से दूषित पदार्थो को साफ करने का काम करती है।
हाथ-पैरों में आने वाले ‪पसीने‬ का उपचार
आँवला चूर्ण एवं पिसी हुई मिश्री बराबर मात्रा मे मिलाकर प्रतिदिन सुवह - शाम 1-1 चम्मच सेवन करने से कुछ समय मे ही, हाथ की हथेली और पैरों के तलवों से आने वाले पसीने की समस्या मे लाभ मिलता है...
गर्मियों में हाथ पैरों में अकड़ाहट
इसलिए प्याज के रस को गुनगुना करके हथेलियों और पैर के तलवों की मालिश करने से अकड़ाहट मे लाभ मिलता है...
तलवों मे जलन को दूर करें
गुनगुने पानी मे एक चम्मच सरसों का तेल डालकर दोनो पैर दस मिनट के लिए इसमें डुबाकर रखें...
स्वच्छ भारत अभियान - Swachh Bharat Abhiyan
^
top