close this ads

जानें दिल्ली के कालीबाड़ी मंदिरों के बारे मे!

 जानें दिल्ली के कालीबाड़ी मंदिरों के बारे मे!
Durga Puja one of the prominent religious and cultural festival of Delhi and near by states. Huge Durga Pooja Pandals for cultural programmes, children activities and musical functions are arranged in Kali Bari / Kali temples. Find below: Top famous Durgotsav destination of Delhi.
1/8 Chittaranjan Park Kali Mandir @Mandir Complex, Chittaranjan Park, New Delhi - 110019 Chittaranjan Park Kali Mandir
Starting from Nehru Place metro station before 500meters reach from temple, you will found a big terracotta bengali style architecture called चित्तरंजन पार्क काली मंदिर (Chittaranjan Park Kali Mandir).
2/8 Dakshin Delhi Kalibari @Sector-7 RK Puram, New Delhi - 110022 Dakshin Delhi Kalibari
दक्षिण दिल्ली कालीबाड़ी (Bengali: দক্ষিণ দিল্লি কালীবাড়ি, Dakshin Delhi Kalibari) dedicated to Maa Kali at the foot of the hillock holding the Malai Mandir in Ramakrishna Puram, opposite Vasant Vihar.
3/8 Matri Mandir @B-2 Block, Safdarjung Enclave, New Delhi - 110029 Matri Mandir
A Religious, Charitable and Socio Cultural Organization मातृ मंदिर (Bengali: মাতৃ মন্দির, English: Matri Mandir) is fulfilment of worship and service toward charitable, social and cultural activities benefiting the society, Also called कालीबाड़ी (কালীবাড়ি, Kalibari)
4/8 New Delhi Kalibari @Mandir Marg, Delhi 110001 New Delhi Kalibari
नई दिल्ली कालीबाड़ी (Bengali: নতুন দিল্লী কালীবাড়ি, New Delhi Kalibari) the center for Bengali culture in New Delhi, A most oldest Maa Kali temple in Delhi-NCR.
5/8 Shalimar Bagh Kalibari Mandir @Block BC Shalimar Bagh, New Delhi - 110088 Shalimar Bagh Kalibari Mandir
A divine center of bengali religious and cultural activities शालीमार बाग कालीबाड़ी मंदिर (Shalimar Bagh Kalibari Mandir) since 20 August 2004. Near by places Montfort Nursery School, Police Colony and Azadpur Fruit Market, 300 meter away from Adarsh Nagar metro station.
6/8 Noida Kalibari @E 5C, Kalibari Marg, Sector 26 Noida, Uttar Pradesh - 201301 Noida Kalibari
First in Noida, Shri Shri Durga Puja was celebrated in Oct 1983 under the banner of Noida Durga Puja Samiti, at Noida Club, Sector 27. Subsequently Noida Bengali Cultural Association(NBCA) was established and registered in 1984. which was initiation of नोयडा कालीबाड़ी (Noida Kalibari) with Shivling and Shri Radha Krishna dham.
7/8 Dwarka Kalibari @Rd Number 201, Sector 12 Dwarka, New Delhi - 110078 Dwarka Kalibari
द्वारका कालीबाड़ी (Bengali: দ্বারকা কালীবাড়ি, English: Dwarka Kalibari) performs all special pujas and organises social activities with the help of devotee.
8/8 Pashchim Delhi Kalibari @2411, Mandir Marg, Chhoti Subji Mandi, Janakpuri, New Delhi - 110058 Pashchim Delhi Kalibari
After visiting New Delhi Kalibari, Noida Kalibari and Dakshin Delhi Kalibari, now one more Kalibari visited in the heart of Janakpuri area near Tilak Nagar metro station called पश्चिम दिल्ली कालीबाड़ी (Pashchim Delhi Kalibari, Bengali:পশ্চিম দিল্লি কালীবাড়ি) in Delhi-NCR.
माँ महाकाली मंदिर (Maa Mahakali Mandir)
A serious spiritual thoughts of Smt Sheela Devi was execute in the form of माँ महाकाली मंदिर (Maa Mahakali Mandir) near Sri Venkateswara Balaji Temple in Sector-3, RK Puram, New Delhi - 110022

वैशाली कालीबाड़ी (Bengali: বৈশালী কালীবাড়ি, Vaishali Kalibari)
Yashoda Marg, Sector 4 Vaishali, Ghaziabad UP - 201010
- npsin.in
मंत्र: महामृत्युंजय मंत्र, संजीवनी मंत्र
ॐ त्र्यम्बकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्धनम्।
उर्वारुकमिव बन्धनान् मृत्योर्मुक्षीय मामृतात्॥
आरती: श्री पार्वती माँ
जय पार्वती माता, जय पार्वती माता, ब्रह्मा सनातन देवी, शुभ फल की दाता।
अरिकुल कंटक नासनि, निज सेवक त्राता, जगजननी जगदम्बा हरिहर गुण गाता।
श्री शनि जयंती के लिए दिल्ली के प्रसिद्ध मंदिर - 25 May 2017
श्री शनि जयंती! सूर्य देव एवं देवी छाया के पुत्र श्री शनिदेव के अवतरण दिवस के रूप मे मनाई जाती है।
आगे देखिए दिल्ली, गाज़ियाबाद के कुछ प्रसिद्ध मंदिर जहाँ मनाई जाती है, श्री शनि जयंती!
आरती: श्री शनिदेव जी
जय जय श्री शनिदेव भक्तन हितकारी।
सूरज के पुत्र प्रभु छाया महतारी॥जय जय..॥
चालीसा: श्री शनिदेव जी
जय गणेश गिरिजा सुवन, मंगल करण कृपाल।
दीनन के दुख दूर करि, कीजै नाथ निहाल॥
आरती: श्री महावीर भगवान 3 | जय सन्मति देवा
जय सन्मति देवा, प्रभु जय सन्मति देवा।
वर्द्धमान महावीर वीर अति, जय संकट छेवा॥ ऊँ जय सन्मति देवा ॥
आरती: ॐ जय महावीर प्रभु 2
ॐ जय महावीर प्रभु, स्वामी जय महावीर प्रभो।
जगनायक सुखदायक, अति गम्भीर प्रभो॥ ॐ जय महावीर प्रभु॥
आरती: ॐ जय महावीर प्रभु!
ॐ जय महावीर प्रभु, स्वामी जय महावीर प्रभु।
कुण्डलपुर अवतारी, चांदनपुर अवतारी, त्रिशलानंद विभु॥
भजन: सूरज की गर्मी से जलते हुए तन को...
जैसे सूरज की गर्मी से जलते हुए तन को मिल जाये तरुवर की छाया,
ऐसा ही सुख मेरे मन को मिला है, मैं जब से शरण तेरी आया। मेरे राम ॥
मंत्र: णमोकार महामंत्र
णमो अरिहंताणं, णमो सिद्धाणं, णमो आयरियाणं, णमो उवज्झायाणं, णमो लोए सव्व साहूणं।
एसोपंचणमोक्कारो, सव्वपावप्पणासणो। मंगला णं च सव्वेसिं, पडमम हवई मंगलं।
Shri Krishna Pranami MandirShri Krishna Pranami Mandir
A center of Nijanand Sampraday श्री कृष्ण प्रणामी मंदिर (Shri Krishna Pranami Mandir), Rohini Delhi. A golden history of 3060 kanya vivah, 30k free polio upchar and organized 33 Gaushala.
मसखरी - Maskhari
ऐसा लग रहा है कि विजय माल्या रॉयल चैलेंजर्स बंगलौर टीम के खिलाडियों का पैसा भी दबा कर भगे हैं , आईपीएल में उन बेचारों का मारे अफ़सोस के परफॉरमेंस ही बिगड़ गया 🙂
घुरपेँच - Ghurpainch
आज लोगों को कब Sorry, Excuse Me, Thank You बोलना है, पता है।
पर सामने-वाले को हिन्दी मे आप (तू नहीं) बोलना होता है, बस ये नहीं पता।
मेरा नमस्ते कहना...
X ने Y को कहा, कि मेरा प्रणाम Z को बोलना...
अतः X चाहते हैं कि Y, Z को आज एक बार और प्रणाम करें।
अर्थात Y, Z से आज, एक बार और विनम्रता पूर्वक संवाद स्थापित करें।
कटप्पा ने बाहुबली क्यों मारा?
कटप्पा ने बाहुबली क्यों मारा?
...भारत को! ये जानना ज़्यादा इम्पोर्टेंट है क्या...?
कटी मेरी पतंग मांझे के हाथों ही...
कटी मेरी पतंग मांझे के हाथों ही, हमें फ़र्क़ था माझे पर नाज था!!
डूवी मेरी कश्ती पतवार के हाथो ही, हमें फ़र्क़ था पतवार पर नाज था!!
पत्तल में खाने के महत्व
» पलाश के पत्तल में भोजन करने से स्वर्ण के बर्तन में भोजन करने का पुण्य व आरोग्य मिलता है।
» केले के पत्तल में भोजन करने से चांदी के बर्तन में भोजन करने का पुण्य व आरोग्य मिलता है।
मटके के पानी के फायदे!
» इस पानी को पीने से थकान दूर होती है।
» इसे पीने से पेट में भारीपन की समस्या भी नहीं होती।
» मटके की मिट्टी कीटाणुनाशक होती है जो पानी में से दूषित पदार्थो को साफ करने का काम करती है।
हाथ-पैरों में आने वाले ‪पसीने‬ का उपचार
आँवला चूर्ण एवं पिसी हुई मिश्री बराबर मात्रा मे मिलाकर प्रतिदिन सुवह - शाम 1-1 चम्मच सेवन करने से कुछ समय मे ही, हाथ की हथेली और पैरों के तलवों से आने वाले पसीने की समस्या मे लाभ मिलता है...
गर्मियों में हाथ पैरों में अकड़ाहट
इसलिए प्याज के रस को गुनगुना करके हथेलियों और पैर के तलवों की मालिश करने से अकड़ाहट मे लाभ मिलता है...
तलवों मे जलन को दूर करें
गुनगुने पानी मे एक चम्मच सरसों का तेल डालकर दोनो पैर दस मिनट के लिए इसमें डुबाकर रखें...
स्वच्छ भारत अभियान - Swachh Bharat Abhiyan
^
top